गुस्सा करना भूल जाओगे बस समझो इस बात को

गुस्सा करना भूल जाओगे बस समझो इस बात को 



इंसान को गुस्सा कभी नहीं करना चाहिए, आज हम इसी के बारे में बात करेंगे। गुस्से में इंसान सही होते हुए भी गलत कर जाता है जिससे उस इंसान का सारा जीवन परेशानियों भरा  हो जाता है। जब गुस्सा आता है तब सोचने की क्षमता समाप्त हो जाती है और बुद्धि पर अंधकार छा जाता है । गुस्से की वजह से बिना किसी गलती के बहुत से लोगों को सजा मिलती है, पुराने से पुराने रिस्ते टूट जाते है  फिर भी हम अपने गुस्से को रोक नहीं पाते। हम सोचते है की अब हम गुस्सा नहीं करेगे पर हमें गुस्सा आ ही जाता है। आखिर क्यू आता है हमे गुस्सा ?

आपने देखा होगा जब किसी छोटे बच्चे को  किसी चीज की इच्छा होती है और उसे वह चीज नहीं मिलती तो वह गुस्सा करता है।  बालक तो निर्बल  होता है । बड़े होने पर भी क्या हम ऐसा ही नहीं करते ?   

क्या गुस्सा हमारे अंदर बैठे बालक का प्रतिभव नहीं है ?  जब हमें कोई चीज नहीं मिलती तो हमें भी एक छोटे बच्चे की भांति बहुत गुस्सा आता है । हम सभी यह भली भांति जानते हैं की इस तरहा बच्चे के जैसे गुस्सा करना ठीक नहीं लेकिन फिर भी गुस्सा आ ही जाता है । हम यह भी जानते हैं की गुस्से से कभी कुछ नहीं मिलता चाहे वो प्यार हो संपति हो  या  सुरछा हो ,  गुस्से से नहीं मिलता, मिलता है तो कार्य करने से ,  बुद्धि पुर्वक  विचार करने से ।  

  इंसान हमेशा अपनी आदत के अनुसार जीता है और इस तरहा गुस्सा भी उसकी एक आदत बन जाती है। हम न चाहते हुए भीअपने प्रतिभवों  को रोक नहीं पाते और कोई भी छोटी सी  वजह मिलते ही गुस्सा करने लगते है । गुस्सा कुछ भी नहीं हमारी बालक बुद्धि का नाम है । अगर हम यह समझ गए की अब हम छोटे बालक नहीं और हमें बच्चों की तरह गुस्सा नहीं करना चाहिए बल्कि  समझदारी से काम लेते हुए गुस्सा करने से बचना चाहिए  तो हमे गुस्सा नहीं आएगा । 

आपको यह जानकारी कैसी लगी , हमें कॉमेंट करके जरूर बताएं । 

Popular posts from this blog

तालाब की ओर.... दिमाग घुमाने वाली आज की पहेली (सही उत्तर यहाँ देखें )

वह कौन सी चीज है जिसे हम खाने के लिए खरीदते हैं लेकिन खाते नहीं हैं ?

सेक्स ना करने पर आपके शरीर पर पड़ता है ये प्रभाव