आखिर कौन निकला ज्यादा शक्तिशाली जब हुआ हनुमान – रावण युद्ध

आखिर कौन निकला ज्यादा शक्तिशाली जब हुआ हनुमान – रावण युद्ध

 



हनुमान और रावण दोनों ही रामायण काल के शक्तिशाली योद्धा थे जिन्हे पराजित कर पाना बहुत कठिन था ।

शायद आप जानते होंगे हनुमान और रावण मे भी हुआ था युद्ध , आखिर किसकी हुई थी विजय ?

आखिर कौन था महाशक्तिशाली ? आज के इस एपिसोड  मेँ हम आपको इसी के बारे मेँ बताने वाले हैं

आपका यहाँ स्वागत है हम प्राचीन काल से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ आपके लिए लेकर आते हैं | यदि आप यहाँ नए हैं तो हमें सपोर्ट करने के लिए अभी हमें फॉलो और सब्स्क्राइब करें ताकि आपको हमारी सभी महत्वपूर्ण जानकारियाँ समय समय पर मिलती रहें ।


महाराज रावण ऋषि विश्रवा के पुत्र थे जो की महान ऋषि पुलस्त के वंशज थे , उन्हे बहुत से नामों से जाना जाता है। लंकाधीश , लंकेश , दशानन आदि उन्हीं के नाम हैं । वे एक बहुत ही शक्तिशाली योद्धा , महान विद्वान , महान वीणावादक और महादेव के बहुत बड़े भक्त थे । बड़ी घोर तपस्या करके उन्होंने ब्रहमा जी को प्रशन्न किया और ये वरदान पा लिया की उन्हे तीनों लोकों मे कोई भी मारने मे सक्षम न हो , ना कोई देव ना दानव न कोई राक्षक्ष उन्हे मार सके । क्योंकि वो मानव और वानरों को बहुत साधारण समझते थे इसलिए वरदान मांगने मेँ उनसे चूक हो गई और  अंत मेँ एक मानव ही उनकी मौत का कारण बना। उन्होंने ब्रह्मा जी और महादेव से  विराट शारीरक  शक्ति , माया सम्मोहन शक्ति,  अमरता का अमृत,  चंद्रहस्त , सच आदि वरदान मांग लिए थे लेकिन कोई मानव उन्हे पराजित न कर सके यह वरदान उन्होंने नहीं मांगा क्योंकि वो मानवों को तुच्छ समझते थे और वो मानते थे की कोई भी मानव उनको कभी भी नहीं हरा पाएगा । उन्हे तीनों वेदों का भी सारा ज्ञान था ।

वहीं महान वानर हनुमान जी का जन्म अनजना और केसरी के घर हुआ था । वे भगवान शिव के अंश और वायुदेव के पुत्र हैं । बहुत से शक्तिशाली वरदान हनुमान जी ने बचपन मेँ ही प्राप्त कर लिए थे जिन्होंने उन्हे बेहद शक्तिशाली और अविनाशी बना दिया था । भगवान सूर्य ने उन्हे गुरु के रूप मेँ  हर प्रकार की शिक्षा दी । दस हजार इंदरों  की शक्ति के मालिक होने के बावजूद हनुमान जी ने कभी इसका घमंड नहीं किया । राम का नाम उनकी सबसे बड़ी ताकत है और वे श्री राम जी के निस्वार्थ भगत हैं । 

हनुमान जी ने श्री राम जी की हर संभव मदद की थी । जब रावण ने माता सीता का अपहरण किया था तो श्री राम और रावण जी के बीच युद्ध हुआ और उसी युद्ध के दौरान हनुमान और रावण का आमना सामना हुआ । रावण हनुमान जी की शक्ति को परखना चाहते थे इसीलिए उन्होंने हनुमान जी पर प्रहार करते  हुए जोरदार घुसा मारा इसके बाद हनुमान जी ने रावण पर प्रहार किया जिसने रावण को पूरा हिला कर रख दिया । उस झटके से बाहर आने के बाद रावण जी हनुमान जी की प्रशंसा करते हुए बोले की ऐसा पहली बार हुआ है की किसी ने इतना शक्तिशाली प्रहार किया की पैर लड़खड़ा गए । इस पर हनुमान जी ने जवाब दिया की धिक्कार है ऐसी शक्ति पे की तुम अभी तक जिंदा हो और तुम ऐसे पहले हो जो मेरे इस प्रहार से बच गया । इसके बाद हनुमान को रोकते हुए जांमवंत ने हनुमान जी को बताया की इसकी मौत श्री राम जी के हाथों लिखी हैं क्योंकि श्रीमन नारायण ने ज्या और विजया को यह वचन दिया था । इसके बाद रावण ने हनुमान जी पर एक और प्रहार किया , इसपे हनुमान जी थोड़े डगमगा गए । इसके बाद रावण ने अपना ध्यान नील से युद्ध करने मे लगा दिया । हनुमान जी उस प्रहार को सहने के बाद और भी आक्रामक होकर रावण की ओर बढ़े तो रावण ने कहा की मैं किसी और के साथ युद्ध मे व्यस्थ हूँ इसलिए इस समय तुम्हारा मुझ पर प्रहार करना उचित नहीं हैं । 

इतना सुनते ही हनुमान जी रुक गए और उन्होंने रावण पर प्रहार नहीं किया । नील से युद्ध के बाद जब रावण ने हनुमान जी को भाले से पराजित किया और वो भाला उठाने लगे तो हनुमान जी ने रावण पर जोरदार प्रहार किया जिसके बाद रावण के आँख कान और मुह से खून निकलने लगा और वो वहीं जमीन पर मूर्छित होकर गिर गए ।

इस प्रकार बाल्मीकि जी की रामायण से यह साफ हो जाता है की हनुमान जी और रावण के बीच हुए ईश युद्ध मेँ कोई भी जीता नहीं लेकिन हनुमान जी ने रावण को बहुत बुरी तरहा से घायल कर दिया था ।  रावण ने खुद हनुमान जी की प्रशंसा मेँ कहा था की मैंने बहुत सारे योद्धा देखे लेकिन हनुमान जितना सम्पन्न योद्धा नहीं देखा जो अपनी इच्छा से अपना रूप और आकार बदल सके ।

अगर वह युद्ध आगे चलता तो मेरे हिसाब से तो हनुमान जी ही विजय होते क्योंकि सोचने वाली बात है हनुमान जी के एक प्रहार से ही रावण गायल होकर बेहोश हो गए थे । हनुमान जी भगवान शिव के अवतार हैं और वे शुरू से ही अजय हैं  । हनुमान जी ने कभी भी अपनी शक्तियों का दुरुपयोग नहीं किया ।

तो दोस्तों कैसी लगी आपको आजकी यह जानकारी कॉमेंट करके हमें जरूर बताएं और अपने सभी दोस्तों से इस जानकारी को शेयर अवश्य करें । 



Subscribe us for latest new Hindi Jokes , Hindi Chutkule , Hindi decent Jokes , Hindi Paheliya , Hindi Sayari , Hindi Stories , Hindi Short Stories , Religion Knowledge , Riddles , Quiz , Hindi knowledge about health , Hindi News, Knowledge about love & Romance , Hindi motivational short stories , Hindi kids stories , Hindi Short Stories about relationship love and friendship & More .

Trending

तालाब की ओर.... दिमाग घुमाने वाली आज की पहेली

वह कौन सी चीज है जिसे हम खाने के लिए खरीदते हैं लेकिन खाते नहीं हैं ? (Quiz)

ये खाने से बढ़ रहे हैं खाज खुजली और त्वचा रोग , बचने के लिए अभी जान लें

ऐसे पुरुष की पत्नी उसे छोड़कर पराए मर्द से प्यार करती हैं, शुक्राचार्य नीति

सेक्स ना करने पर आपके शरीर पर पड़ता है ये प्रभाव

साल मेँ मुझे एक बार ही खरीदते हो.... (आज की मजेदार पहेली )

ऐसे करें चरित्रहीन महिला की पहचान , चाणक्य नीति

हर पत्नी अपने पति से छुपाती है ये पांच बातें

लाल गाय लकड़ी खाए .. (आज की मजेदार पहेली )

आज की पहेली (quiz of the day)